1 Sep 2012

बस यूँ ही-४


दो और दो का योग हमेशा चार नहीं होता ,

सोच-समझ वालों को कुछ नादानी दे मौला ,

फिर मूरत से निकलकर दुनिया में बिखर जा ;

फिर मंदिर को कोई मीरा दीवानी दे मौला ||
.
@!</\$}{
.

No comments:

Post a Comment